Zero Interest or Interest Free EMI Reality Check

एक चीज हमेशा याद रखो-  फ्री लंच कहीं पर भी नहीं मिलता दुनिया के किसी भी कोने मे चले जाओ

तो क्या 0% ईएमआई  सच मे मिलता है या फिर ये एक धोखा है? 

इसका जबाव है "नहीं" Zero Cost EMI कभी भी इंटरेस्ट फ्री नहीं होता 

तो फिर ये फ्री ईएमआई कैसे काम करता है  इसके पीछे का लॉजिक क्या है?

INTEREST FREE EMI  मे बैंक 3 Hidden तरीकों से अपना ब्याज वसूल करता है 

Arrow

PROCESSING FEE

1.

क्रेडिट कार्ड जारी करने वाला बैंक आपसे Processing Fee के नाम पे 500-800 तक चार्ज कर लेता है।

PRODUCT COST

2.

Bank Retailer से पहले से Tie-Up कर लेता है और आपकी EMI का Interest पहले से ही प्रॉडक्ट कॉस्ट मे जोड़ दिया जाता है। 

BANK FEES

3.

कई बार ग्राहक EMI समय पर भुगतान करना भूल जाते हैं ऐसे मे Late Fine के साथ साथ ब्याज लगाकर पूरा डिस्काउंट वसूल कर लिया जाता है। 

4.

मैनेजमेंट कंसल्टेंट समीर कपूर कहते हैं कि- ‘नो कॉस्ट ईएमआई वास्तव में एक छलावा है. कर्ज की लागत या ब्याज इसमें भी ईएमआई में शामिल होते हैं

इसलिए 0% EMI पर प्रॉडक्ट खरीदने से पहले उसके प्राइस और लोन Term & Conditions को ध्यान से पढ़ लें।