भारत के राष्ट्रपति और उनका कार्यकाल (1947 से अब तक

आज़ादी से लेकर 2022 तक भारत मे कुल 15 राष्ट्रपति हुये हैं 

इस स्टोरी मे आप  जानेंगे भारत मे अब तक महामहिम पद पर आसीन हुये सभी राष्ट्रपति और उनके कार्यकाल के बारे मे। 

इसके अलावा 3 कार्यवाहक राष्ट्रपति हुये है।

१. प्रथम राष्ट्रपति 

भारत के एकमात्र राष्ट्रपति थे, जिन्होंने दो कार्यकालों तक राष्ट्रपति पद पर कार्य किया. वे संविधान सभा के अध्यक्ष भी थे और भारतीय स्वाधीनता आन्दोलन के प्रमुख नेता. उनको 1962 में भारत रत्न दिया गया था

डॉ राजेन्द्र प्रसाद 

कार्यकाल:  26 January 1950  से  13 May 1962

२. द्वतीय राष्ट्रपति 

डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितम्बर 1888 को हुआ था और इसी दिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है. उनको 1954 में भारत रत्न दिया गया था

डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन 

कार्यकाल:  13 May 1962 – 13 May 1967

३. तृतीय राष्ट्रपति 

डॉ जाकिर हुसैन भारत के पहले मुस्लिम राष्ट्रपति बनें और इनकी मृत्यु पद पर रहते ही हुई थी. तात्कालिक उपराष्ट्रपती वी.वी गीरि को कार्यवाहक राष्ट्रपति बनाया गया था. यह भारत के सबसे प्रसिद्ध तबला वादक थे

डॉ जाकिर हुसैन

कार्यकाल:  13 May 1967 – 3 May 1969

पहले कार्यवाहक राष्ट्रपति

वी. वी गिरी यह पहले भारत के कार्यवाहक राष्ट्रपति रहे थे. इनका पूरा नाम वराहगिरी वेंकटगिरी है. इनके समय में दुसरे चक्र की मतगणना करनी पड़ी थी.  1975 में उनको भारत रत्न से सम्मानित किया गया था.

श्री वी वी गिरी

कार्यकाल:  3 May 1969 – 20 July 1969

द्वितीय कार्यवाहक राष्ट्रपति

मई 1969 में जब राष्ट्रपति डॉ. जाकिर हुसैन की मृत्यु हुई, तब तत्कालीन उपराष्ट्रपति वी.वी. गिरि राष्ट्रपति के रूप में कार्य कर रहे थे। लेकिन उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के लिए उपराष्ट्रपति के पद से इस्तीफा दे दिया। तब भारत के मुख्य न्यायाधीश एम. हिदायतुल्ला ने कार्यवाहक राष्ट्रपति के रूप में काम किया।

मोहम्मद हिदायतुल्लाह

कार्यकाल:  3 May 1969 – 20 July 1969

४. चतुर्थ राष्ट्रपति

वी. वी गिरी भारत के चौथे राष्ट्रपति थे. इनका पूरा नाम वराहगिरी वेंकटगिरी है. इनके समय में दुसरे चक्र की मतगणना करनी पड़ी थी. यह पहले भारत के कार्यवाहक राष्ट्रपति भी रह चुके थे. 1975 में उनको भारत रत्न से सम्मानित किया गया था.

श्री वी वी गिरी

कार्यकाल:  24 August 1969 – 24 August 1974

५. पंचम राष्ट्रपति

फखरुद्दीन अली अहमद भारत के पांचवे राष्ट्रपति थे. ये दुसरे राष्ट्रपति थे जिनकी मृत्यु राष्ट्रपति के पद पर रहते ही हो गई थी. जिसके कारण बी.डी जत्ती को कार्यवाहक राष्ट्रपति बनाया गया था.

फखरुद्दीन अली अहमद

कार्यकाल:  24 August 1974 – 11 February 1977

तीसरे कार्यवाहक राष्ट्रपति

बसप्पा दानप्पा जट्टी भारत के पांचवें उपराष्ट्रपति थे, जिन्होंने 1974 से 1979 तक सेवा की। वह 11 फरवरी से 25 जुलाई 1977 तक भारत के कार्यवाहक राष्ट्रपति थे। मृदुभाषी जट्टी एक नगर पालिका सदस्य के रूप में एक विनम्र शुरुआत से भारत के दूसरे सर्वोच्च पद तक पहुंचे। 

बासप्पा दनप्पा जत्ती

कार्यकाल:  11 February 1977 - 25 July 1977

६. छठे राष्ट्रपति

भारत के छठे राष्ट्रपति बने और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री भी रहे हैं. वे भारत के ऐसे राष्ट्रपति थे जिन्हें राष्ट्रपति के उम्मीदवार होते हुए प्रथम बार विफलता प्राप्त हुई और दूसरी बार उम्मीदवार बनाए जाने के बाद वह राष्ट्रपति पद पर निर्वाचित हुए थे.

नीलम संजीव रेड्डी

कार्यकाल:  25 July 1977 – 25 July 1982

७. सातवें राष्ट्रपति

राष्ट्रपति बनने से पहले वे पंजाब के मुख्यमंत्री और केंद्र में भी मंत्री रहे थे. उनके राष्ट्रपति कार्यकाल में बहुत सी घटनाये घटी जैसे ऑपरेशन ब्लू स्टार, इंदिरा गाँधी की हत्या और 1984 में सिख विरोधी दंगा

ज्ञानी जैल सिंह

कार्यकाल:  25 July 1982 – 25 July 1987

आर. वेंकटरमण 1984 से 87 तक भारत के उपराष्ट्रपति रहे थे. वे एक भारतीय वकील, स्वतंत्रता संग्रामी और महान राजनेता थे. उन्होंने अपने राष्ट्रपति काल में सर्वाधिक प्रधानमंत्री को उनकी पद की शपथ दिलाई थी.

रामास्वामी वेंकटरमण

कार्यकाल:  25 July 1987 – 25 July 1992

८. आठवें राष्ट्रपति

वे अपने राष्ट्रपति पद से पहले, भारत के आठवें उप राष्ट्रपति थे. 1952 से 56 तक वे भोपाल के मुख्य मंत्री रहे थे और 1956 से 67 तक कैबिनेट मिनिस्टर. इंटरनेशनल बार एसोसिएशन ने उनको लीगल प्रोफेशन में बहु-उपलब्धियों के कारण ‘लिविंग लीजेंड ऑफ़ लॉ अवार्ड ऑफ़ रिकग्निशन’ दिया था.

डॉ शंकर दयाल शर्मा

कार्यकाल:  25 July 1992 – 25 July 1997

९. नौवें राष्ट्रपति

१०. दशम राष्ट्रपति

के. आर. नारायणन भारत के प्रथम दलित राष्ट्रपति तथा प्रथम मलयाली व्यक्ति थे जिन्हें देश का सर्वोच्च पद प्राप्त हुआ था. वे लोकसभा चुनाव मतदान करने वाले तथा राज्य की विधानसभा को सम्बोधित करने वाले पहले राष्ट्रपति थे.

के. आर. नारायणन

कार्यकाल:  25 July 1997 – 25 July 2002

११. ग्यारहवें राष्ट्रपति

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम भारत के मिसाईल मेन नाम से भी जाने जाते हैं. वे पहले वैज्ञानिक थे जिन्होंने राष्ट्रपति पद को संभाला और भारत के पहले राष्ट्रपति जो सर्वाधिक मतों से जीते थे. 1974 एवं 1998 में भारत के परमाणु परीक्षण में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा था. 1997 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया था.

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम

कार्यकाल:  25 July 2002 – 25 July 2007

१२. बारहवीं राष्ट्रपति

वह राष्ट्रपति बनने से पहले राजस्थान की राज्यपाल रहीं थी. 1962 से 85 तक वह पांच बार महाराष्ट्र की विधानसभा की सदस्य रही और 1991 में लोकसभा के लिए अमरावती से चुनी गई थी. इतना ही नहीं वह सुखोई विमान उड़ाने वाली पहली महिला राष्ट्रपति भी हैं.

श्रीमती प्रतिभा सिंह पाटिल

कार्यकाल:  25 July 2007 – 25 July 2012

१३. तेरहवें राष्ट्रपति

प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति चुनाव लड़ने से पहले केंद्र सरकार में वित्त मंत्री के पद पर थे. उनको 1997 में सर्वश्रेष्ठ सांसद का पुरस्कार एवं 2008 में भारत का दूसरा सबसे बड़ा असैनिक सम्मान पद्म विभूषण प्रदान किया गया था.

प्रणब मुखर्जी

कार्यकाल:  25 July 2012 – 25 July 2017

१४. चौदहवें राष्ट्रपति

राष्ट्रपति बनने से पहले वे बिहार के पूर्व गवर्नर थे. राजनीतिक समस्याओं के प्रति उनके दृष्टिकोण ने उन्हें राजनीतिक स्पेक्ट्रम में प्रशंसा दिलाई. एक राज्यपाल के रूप में, उनकी उपलब्धियां विश्वविद्यालयों में भ्रष्टाचार की जांच के लिए न्यायिक आयोग का निर्माण करना था.

राम नाथ कोविंद

कार्यकाल:  25 July 2017 – 25 July 2022

१५. पंद्रहवीं राष्ट्रपति

द्रौपदी मुर्मू भारत की 15वीं राष्ट्रपति बनीं. द्रौपदी मुर्मू का जन्म 20 जून 1958 को ओडिशा के मयूरभंज जिले के उपरबेड़ा गांव में एक संथाली आदिवासी परिवार बिरंची नारायण टुडू के घर हुआ था. वह झारखंड की पूर्व राज्यपाल रही हैं. उन्हें  वर्ष 2007 में, ओडिशा विधान सभा द्वारा सर्वश्रेष्ठ विधायक के लिए नीलकंठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.

द्रौपदी मुर्मू

कार्यकाल:  25 July 2022 से अब तक