Expert Tips for Students

तनाव से मुक्ति के उपाय- कैसे पाएं तनाव से मुक्ति, जानिये आसान उपाय

मानसिक तनाव कैसे दूर करें?

किसी भी व्यक्ति को शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से कमजोर करने के लिए सिर्फ तनाव ही काफी है. इसलिए आपको तनाव से मुक्ति के उपाय अवश्य जानना चाहिए.

तनाव हमारी कार्यक्षमता ही नही कम करता बल्कि पढ़ाई पे भी प्रतिकूल असर डालता है.

टेंशन को साथ में लेकर कोई भी व्यक्ति कोई कार्य सही तरीके से निष्पादित नही कर सकता. इसलिए यह tension dur karne ka upay आपके लिए बड़े काम की चीज साबित होने वाला है।

यदि अगली बार आप तनाव महसूस कर रहे हों तो इन उपायों पे विचार करें अवश्य लाभ होगा –

मानसिक तनाव दूर करने के उपाय:

विभिन्न अध्ययनों के अनुसार, चिंता आपको तनावग्रस्त करती है. तथा पेट की नाड़ियों पे हानिकारक प्रभाव डालती है जिसके परिणामस्वरूप अमाशय सामान्य से असामान्य हो जाता है.

ये प्रायः अलसर को जन्म देता है।

डॉक्टर ऐलेक्स के अनुसार जो चिंता से लड़ना नहीं जानते वे चिता में पहुंच जाते हैं। इसलिए चिंता करना छोड़े।

चिंता न करें

चिंता का सबसे हानिकारक प्रभाव यह है कि इससे हमारी सोचने समझने की शक्ति का ह्रास होता है. जब हम चिंताग्रस्त होते हैं तो हमारा दिमाग प्रायः इधर उधर भागता है और उलटी सीधी बातें सोचने लगता है,
इस वजह से हम निर्णय नहीं ले पाते हैं।

वही दूसरी तरफ जब हम बुरी से बुरी परिस्थिति के लिए तैयार रहते हैं तो परिस्थितियां हमारा कुछ नहीं बिगाड़ पाती हैं।
तथा हम परेशानियों को बेहतर ढंग से सुलझा पाते हैं। तनाव से मुक्ति के लिए चिंता से दूर रहें.

विकट परिस्थितियों से सामना

विकट परिस्थितियों का निडरता से विश्लेषण करें तथा ईमानदारी से सोचें की ज्यादा से ज्यादा बुरा क्या हो सकता है.?

इसके बाद शांत मन से सम्पूर्ण ऊर्जा के साथ उस विकट परिस्थिति का सामना करो तथा उससे बाहर निकलने की कोशिश करो.
जब आप ख़राब से ख़राब स्थिति के बारे में सोचोगे तो आपको अभी की परिस्थिति से डर कम लगेगा और चीजे 50% आसान हो जाएगी.

एकाग्रता कैसे बढ़ाये?

विचार और कर्म

व्यक्ति उतना घटना से आहत नही होता जितना वह सोचकर होता है की यह क्या हो गया? अपने विचारों को बदलने के लिए इस तकनीक का प्रयोग करें-

हम जो कुछ भी मन में सोचते हैं उसे कर्म के द्वारा अंजाम देने की कोशिश करते हैं क्यूंकि कर्म हमारी इच्छा से सीधे नियंत्रण में होते हैं। यदि विचार या इच्छा उच्च है तथा उत्साहित है तो कर्म भी वैसे ही होंगे।

  • इसलिए आप कर्म इस तरह करें जैसे आप बहुत खुश हैं।
  • ऐसे प्रसन्नता से बात करें या चले जैसे की आप पहले से प्रसन्न हों।

अगर संभव हो तो कुछ पल नृत्य कर सकते हैं।
“नृत्य तनाव से मुक्ति का सर्वश्रेष्ठ उपायों में से एक है”

अपने से नीचे वाले को देखें

क्यूंकि आपके पास अच्छे जूते नहीं हैं इसलिए आप परेशान हो जाते हैं.
एकबार अपने आसपास या सड़क पे नजर घुमायें आपको ऐसे कितने मिल जायेंगे जो आपसे बुरी स्थिति में हैं।

आपके पास तो जूते हैं उनके पास वो भी नही हैं। हमेशा अपने से नीचे वाले को देखिए आपको कभी एहसास नही होगा की आपके पास ये नहीं है वो नहीं है।

चिंता आपसे दूर हो जाएगी। ये तनाव से मुक्ति के उपाय में सबसे महत्वपूर्ण है।

मानसिक चित्रण तकनीक:

आप अपने अंतरमन में अपने जीवन के उन लम्हों को अच्छे से चित्रित कर लीजिये जिसमे आप बहुत खुश थे.
अगली बार जब आप तनाव ग्रस्त हों तो उन्ही लम्हों में वापस जाएँ जिनका आपने सुखद अनुभव किया था.

खुशनुमा माहौल को महसूस करने की कोशिश कीजिये।


याद रखें ” जो हम हैं वैसा नहीं सोचते, लेकिन हम जैसा सोचते हैं वैसे हो जाता है”.

इसलिए जब आप तनावग्रस्त महसूस करें तुरंत ही इन तनाव मुक्ति के उपायों को अपनाएं।


Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
Close
Close