Current AffairsCareer & Money

New Wage Code: 1 जुलाई से काम के घंटे बढ़ेंगे और सैलरी होगी कम रिटायरमेंट बेनिफिट बढ़ेगा।

जानिए प्राइवेट नौकरी के नए नियम | What is New Labour Code?

What is New Labour Code? or New Wage Code 2022 ?: सुधारों के क्रम मे आगे बढ़ते हुये भारत सरकार Labour Code मे महत्वपूर्ण बदलाव करने जा रही है, केंद्र सरकार 1 जुलाई 2022 से नए श्रम कानूनों को लागू करने जा रही है। एक बार नए श्रम कानून लागू होने के बाद, कर्मचारियों के कार्यालय के काम के घंटे, ईपीएफ योगदान और और साप्ताहिक अवकाश एक महत्वपूर्ण बदलाव होगा।

अगर आप प्राइवेट नौकरी करते हैं तो यह खबर आपके लिए अत्यधिक महत्व की है जिससे आपको अवश्य जानना चाहिए. मौजूदा श्रम कानून के हिसाब से किसी भी प्राइवेट कर्मचारी को सिर्फ 8 घंटे काम करने की अनिवार्यता है तथा सप्ताह मे एक अवकाश मिलता है. नए (New Wage Code 2019) नियमों के लागू होते ही 1 जुलाई से कई बदलाव होने वाले हैं. तो चलिये जानते हैं की New Labour Code या New Wage Code 2019 (जो की 1 जुलाई 2022 से लागू होने जा रहा है) के अनुसार क्या क्या नए बदलाव होने वाले हैं।

New Wage Code के अनुसार कार्य के घंटो मे बढ़ोत्तरी

New Wage Code नए श्रम कानून 2022 मे श्रमिकों और सभी प्राइवेट कर्मचारियों के कार्य घंटे 8 से बढ़ाकर 12 घंटे प्रतिदिन करने का प्रावधान है. अब आप कहेंगे की ये तो ज्यादती है नाइंसाफी है हमारे साथ?

लेकिन नहीं, पुराने नियमानुसार आपको वीकली (8×6= 48 घंटे काम करने होते थे और नए नियम के अनुसार आपको 12×4= 48 घंटे ही काम करने होंगे. यानि की अब आप हफ्ते मे 1 की बजाय तीन अवकाश प्राप्त करेंगे और आप अपनी सामाजिक जिम्मेदारियों और पारिवारिक जिम्मेदारियों के लिए ज्यादा समय दे सकेंगे।

RelatedTop 10 Highly Paid Jobs in India | Choose the Best Career

In Hand Salary (टेक होम सैलरी) हो जाएगी कम (New Labour Code)

नए श्रम कानूनों के अनुसार अब आपकी जेब पे असर पड़ने वाला है क्यूंकी और मिलने वाली In Hand Salary या Basic Salary आपकी सीटीसी (Cost to Company) का 50% होगी। मौजूदा स्ट्रक्चर मे आपकी बेसिक सैलरी कुल वेतन का 30-40 प्रतिशत होती है इसके अलावा स्पेशल एलोवेन्स, एचआरए पीएफ़ आदि काटा जाता है। लेकिन 1 जुलाई 2022 से नए स्ट्रक्चर के अनुसार Basic Salary आपकी CTC का 50% प्रतिशत होगी इसका सीधा असर आपकी पीएफ़ और ग्रैचुइटी पर पड़ेगा।

इसको उदाहरण से समझते हैं-

मान लीजिये आपकी सैलरी 50 हजार है तो मौजूदा नियम के अनुसार आपकी बेसिक सैलरी 15 हजार होगी और आपका पीएफ़ (बेसिक सैलरी का 12%) 1800 रुपए महिना बनता है लेकिन नए नियम के अनुसार अब आपकी बेसिक सैलरी हो जाएगी 25 हजार और इसपे 12% पीएफ़ Contribution बढ़कर 3000 रुपए हो जाएगा यानि अब आपकी In Hand Salary 1200 रुपए कम मिलेगी।

New Wage Code के अनुसार पेंशन या रिटायरमेंट लाभ ज्यादा मिलेगा

नए labour code के अनुसार आपकी इन हैंड सैलरी (Take Home Salary) जरूर कम हो जाएगी थोड़ा लेकिन आपकी पीएफ़ और ग्रैचुइटी मे contribution बढ्ने से आपको रिटायरमेंट Benefit काफी ज्यादा मिलेगा।

Conclusion:

New Wage Code या New Labour Law द्वारा बनाए गए नए प्रावधानों का सीधा सा मकसद है की आपको परिवार और सामाजिक जिम्मेदारियों के लिए अधिक समय मिले और रिटायरमेंट बेनिफिट ज्यादा प्राप्त होगा जिससे Old Age मे आप आर्थिक रूप से अधिक मजबूत रह सकेंगे।

इन नए प्रावधानों से आपको लाभ है या हानि आप कमेंट बॉक्स मे बताएं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button