Expert Tips for Students

NIOS & CBSE परीक्षा के लिए इस फॉर्मेट में दें उत्तर तो मिलेंगे अच्छे नंबर |

Best Answer format for NIOS CBSE : राष्ट्रिय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (NIOS) & CBSE द्वारा 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षार्थियों को उत्तर देने के लिए उचित फार्मेट क्या है इस बारे में इस लेख में चर्चा करेंगे। CBSE बोर्ड ने कहा कि इस फार्मेट का इस्तेमाल उत्तर देने में करें। इससे अंक अच्छे आयेंगे।

ज्ञात हो की वर्ष 2019 में CBSE द्वारा आयोजित 10th व् 12th की परीक्षा पुस्तिकाओ की समीक्षा की गई। जिसमे टॉपर आये छात्रों की छात्र छात्राओं की उत्तर पैटर्न का अध्ययन किया गया। जिसके आधार पर NIOS के छात्रों के लिए भी इसी तरह के फॉर्मेट में उत्तर देने की सलाह दी जाती है।

इस लेख में हम विषयवार बिंदुवार बताएँगे की आप किस विषय की परीक्षा किस फॉर्मेट में उत्तर देंगे तो आपको अधिक अंक प्राप्त होंगे. ये सुझाव बोर्ड द्वारा सुझाये गए हैं इसमें बताया गया है की किस विषय के लिए किस तरह के फॉर्मेट में उत्तर देना ज्यादा अंक लाने की गारंटी है। यदि आप इस तरह से उत्तर देते हैं तो परीक्षकों को जांचने में भी सुविधा होगी तथा आपको अंक भी अच्छे प्राप्त होंगे।

सिर्फ NIOS या CBSE ही नहीं यदि आप किसी अन्य बोर्ड के छात्र हैं तो भी आप इससे अमल में ले सकते हैं।

विदित हो कि पहली बार CBSE देश भर के बोर्ड परीक्षार्थियों के लिए विषय वार फार्मेट तैयार किया हैं। जो की CBSE NIOS के साथ साथ अन्य Boards के छात्रों के लिए एक बेहतर मार्गदर्शन सिद्ध होगा –

NIOS की इ-बुक्स यहाँ से डाउनलोड करें।

साइंस पेपर में उत्तर लिखने का फार्मेट – (Answer format for NIOS CBSE Science paper)

  1. Heading
  2. Sub-Heading
  3. Point-wise Answer

साइंस का प्रश्न पत्र के उत्तर को तीन हिस्सों में बाँटकर लिखे , सर्वप्रथम Heading फिर subheading देते हुए तीसरा मुख्य बिंदुओं पर फोकस करें। उत्तर को बिंदुवार लिखने का प्रयास करें। प्रश्न में पूछे गए प्रत्येक पहलु को ध्यान में रखकर बिंदुवार जबाव दें।

साइंस पेपर में इस फॉर्मेट में अगर उत्तर लिखते हैं तो आपको ज्यादा से ज्यादा अंक मिलेंगे।

इस संबंध में सेंट माइकल हाई स्कूल के शिक्षक आरके ठाकुर ने बताया कि साइंस विषय में थ्योरी में उत्तर इसी तरह लिखा जाना चाहिए। हालांकी एक और दो अंक वाले प्रश्नों का जवाब एक शब्द या एक लाइन में होनी चाहिए। इस फॉर्मेट का इस्तेमाल भौतिकी, रसायन और जीवविज्ञान में छात्र कर सकते हैं।

सोशल साइंस में उत्तर लिखने का फार्मेट –

सोशल साइंस के प्रश्न का उत्तर देते हुए सर्वप्रथम पूछे गए प्रश्न का Introduction दें। इससे पता चलता है की आपने प्रश्न को सही तरह से समझ लिया है। बिना इंट्रोडक्शन के उत्तर प्रारम्भ न करें। द्वितीय अब मूल प्रश्न पे चर्चा करे तथा महत्वपूर्ण बातों को अंडरलाइन करते हुए उत्तर लिखें।  जरूरी तारीखों और नामों को अंडरलाइन करें।

अंत में सारांश जरूर लिखें सोशल साइंस के उत्तर थोड़े लंबे होते हैं। ऐसे में छात्र अगर उत्तर तीन हिस्सों में विभाजित करके लिखें तो कॉपी जांचने वाले शिक्षकों के लिए समझना आसान होता हैं।

त्रिभुवन स्कूल की शिक्षिका पुष्पा सिंह ने बताया कि सामाजिक विज्ञान में पहले संबंधित टॉपिक की जानकारी लिखना चाहिए। इसके बाद उत्तर का मुख्य प्वाइंट हो। इसमें अगर तारीख और नाम लिखें तो उसे अंडरलाइन जरूर करें। यह फार्मेट 12वीं के इतिहास, भूगोल और नागरिक शास्त्र में इसी फार्मेट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

गणित में उत्तर लिखने का फार्मेट

गणित का उत्तर देने के लिए आपको इस प्रकार के फॉर्मेट का सुझाव दिए गया है –
सर्वप्रथम: प्रश्न को उत्तर करने के लिए उपयुक्त फार्मूला का जिक्र करें।
द्वितीय : महत्वपूर्ण स्टेप्स को क्लियर करें तथा
तृतीय : चरण में प्रश्न को उसी फार्मूला तथा स्टेप्स को फॉलो करते हुए हल करें।

इस फॉर्मेट का इस्तेमाल आप सभी तरह के mathematics या physics या chemistry में आने वाले न्यूमेरिकल प्रश्नों का उत्तर देने के लिए करें।

संयम भारद्वाज (परीक्षा नियंत्रक, सीबीएसई) द्वारा सुझाया गया है कि :- परीक्षा में प्रश्नों का उत्तर का क्या फार्मेट हो जिससे शिक्षक पूरे अंक देते हैं। इसकी समीक्षा बोर्ड स्तर पर इस बार की गयी हैं।  तो आप आगामी मार्च अप्रैल में होने वाली परीक्षा की तयारी आप इसको ध्यान में रखकर करें तो आपको उम्मीद से अधिक अंक प्राप्त होंगे।

 

NIOS की इ-बुक्स यहाँ से डाउनलोड करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button